Wednesday, 3 February 2016

Dosti Shayari If You Want Friendship Like Jai-Veeru Of Sholay

Dosti shayari or friendship shayari in hindi to share with friends. And be like jai veeru of sholay.

Dosti Shayari If You Want Friendship Like Jai-Veeru Of Sholay
Dosti Shayari If You Want Friendship Like Jai-Veeru Of Sholay

If you have friend and want to share your feelings for him because he is your true friend than these Hindi dosti shayari are perfect.

These are intense and very emotional shayari that you must share with your friends before the relationship breaks.

Hindi friendship shayari is a great way to maintain and strengthen a friendship. If you want that your friends care for you like Krishna did for Sudhama than use this hindi friendship shayari to dazzle your friends and maintain a true loving and healthy friendship.

Set an example like jai veeru of sholay with this hindi friendship shayari.

Hindi frienship Or Dosti shayari




ऐ दोस्त हमने तर्क-ए-मोहब्बत के बावजूद,
महसूस की है तेरी ज़रूरत कभी कभी!
~ नसीर काज़मी

दूरिया होते हुए भी सफ़र वही रहेगा;
दूर होते हुए भी दोस्ताना वही रहेगा;
बहुत मुश्किल है यह सफ़र ज़िंदगी का;
अगर आपका साथ होगा तो एहसास वही रहेगा!

ज़िक्र हुआ जब खुदा की रहमतो का;
हमने खुद को खुशनसीब पाया;
तमन्ना थी एक प्यारे से दोस्त की;
खुदा खुद दोस्त बनकर चला आया!

इश्क़ और दोस्ती मेरे दो जहाँ हैं;
इश्क़ मेरी रूह तो दोस्ती मेरा ईमान है;
इश्क़ पर तो फिदा कर दूं अपनी सारी ज़िंदगी;
मगर दोस्ती पर तो मेरा इश्क़ भी कुर्बान है!





जाम पे जाम पीने का क्या फ़ायदा;
शाम को पी, सुबह उतर जाएगी;
अरे पीनी है तो दो बूँद दोस्ती के पी;
सारी ज़िंदगी फिर बस नशे में गुज़र जाएगी!

बहुत कुछ खोया, बहुत कुछ पाया;
कसम से ज़िंदगी ने बहुत हसाया, बहुत ही रुलाया;
पर शिकवा नही ज़िंदगी से हमे कोई;
क्योंकि इसी ने कुछ हसीन दोस्तो से भी मिलाया!


दोस्ती में दूरियाँ तो आती रहती हैं;
फिर भी दोस्ती दिलों को मिला देती है;
वो दोस्त ही क्या जो नाराज़ ना हो;
पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को माना लेती है!

दोस्त को दोस्त का इशारा याद रहेता है;
हर दोस्त को अपना दोस्ताना याद रहेता है;
कुछ पल सच्चे दोस्त के साथ तो गुजारो;
वो अफ़साना मौत तक याद रहता है!

तेरी उलफत कभी नाकाम ना होने देंगे;
तेरी दोस्ती कभी बदनाम ना होने देंगे;
मेरी ज़िंदगी में सूरज निकले ना निकले;
तेरी ज़िंदगी में कभी शाम ना होने देंगे!




Related Posts

Dosti Shayari If You Want Friendship Like Jai-Veeru Of Sholay
4/ 5
Oleh