Wednesday, 4 April 2018

Intzaar Shayari शायरी जो कहती हैं "और कितना इंतज़ार कराएगी "

Intzaar Shayari शायरी जो कहती हैं "और कितना इंतज़ार कराएगी ". Best Shayari in Hindi for people in love that are waiting for their girlfriend.

Intzaar Shayari शायरी जो कहती हैं "और कितना इंतज़ार कराएगी "
Intzaar Shayari शायरी जो कहती हैं "और कितना इंतज़ार कराएगी "

Intzaar Shayari शायरी जो कहती हैं "और कितना इंतज़ार कराएगी "


इक उमर कट गयी लेकिन बचपना नही जाता;
हम दिए जलाते हैं आज भी तेरी आहत पर!

मरने के बाद भी मेरी आँखें खुली रही;
आदत जो पढ़ गयी थी तेरे इंतेज़ार की!
मरने के बाद भी मेरी आँखें खुली रही;
आदत जो पढ़ गयी थी तेरे इंतेज़ार की!

तेरी उम्मीद तेरा इंतेज़ार जब से है;
ना शब को दिन से शिकायत ना दिन को शब से है!

रात तो वक़्त की पाबंद है ढाल जाएगी;
देखना यह है चरागों का सफ़र कितना है!

आदतन तुमने कर दिए वादे,
आदतन हमने ऐतबार किया;
तेरी राहों में हर बार रुककर,
हमने अपना ही इंतेज़ार किया!

अच्छा है दिल के साथ रहे पासबान-ए-अकल;
लेकिन कभी-कभी इसे तन्हा भी छोर दे!
~ अल्लामा इक़बाल

अंजान एक साथी का इस दिल को इंतज़ार हैं;
प्यासी हैं ये आँखें और दिल बेकरार हैं;
उनके साथ मिल जाए तो हर राह आसान हो जाएगी;
शायद इसी अनोखे एहसास का नाम प्यार है!

ना जाने कब वो हसीन रात होगी;
जब उनकी निगाहें हमारी निगाहों के साथ होगी;
बैठे हैं हम उसी रात के इंतेज़ार में;
जब उनके होंठो की सुर्खियाँ हमारे होंठो के साथ होगी!




Related Posts

Intzaar Shayari शायरी जो कहती हैं "और कितना इंतज़ार कराएगी "
4/ 5
Oleh